Skip to main content

प्रमुख, राष्ट्रीय कैंसर संस्थान- भारत

\r\n\r\n

डॉ. जी. के. रथ
\r\nप्रधान, डॉ. बी. आर. अम्बेडकर संस्था-रोटरी कैंसर चिकित्सालय
\r\nप्रोफेसर, विकिरण कैंसर विज्ञान विभाग
\r\nअध्यक्ष, राष्ट्रीय कैंसर संस्थान
\r\nअखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान

\r\n\r\n

डॉ. गौर किशोर रथ वर्तमान में झज्जर, हरियाणा में निर्माणाधीन अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के नव-स्थापित राष्ट्रीय कैंसर इन्स्टिट्यूट (एन.सी.आई.) के नामित अध्यक्ष हैं। एक बार निर्मित होने पर, एन.सी.आई. कैंसर के अनुसंधान और उपचार के लिए और राष्ट्र में कैंसर के उन्मूलन के लिए समर्पित आगामी पीढ़ी के वैज्ञानिकों और चिकित्सकों के प्रशिक्षण के लिए समर्पित एक अद्वितीय संस्थान होगा।

\r\n\r\n

डॉ. रथ एक अत्यधिक प्रसिद्ध वैज्ञानिक और चिकित्सक हैं। उन्होंने ओडिसा में उत्कल विश्वविद्यालय से अपनी एम.बी.बी.एस. की डिग्री प्राप्त की, बाद में एम्स से रेडियोथैरेपी में अपनी एम.डी. प्राप्त की। उनकी विशेषज्ञता विकिरण कैंसर विज्ञान, स्त्रीरोग एवं स्तन कैंसर और ब्राचीथैरेपी में है। उन्हें 2007 से डॉ. बी. आर. अम्बेडकर संस्था-रोटरी कैंसर चिकित्सालय का प्रधान नामित किया गया और मार्च 2014 में झज्जर में एम्स-द्वितीय में एन.सी.आई. का अध्यक्ष नामित किया गया।

\r\n\r\n

उनके कई पुरस्कार और सम्मान में से, उन्हें एसोसिएशन ऑफ़ रेडियन ऑन्कोलॉजिस्ट ऑफ इंडिया से लाइफ़टाइम अचीवमेंट अवार्ड, और स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के लिए उत्कृष्ट योगदान के लिए "हिंदुस्तान भूषण" प्राप्त हुआ है । इसके अलावा, भारत सरकार की ओर से उन्होंने कई सम्मेलनों, समितियों और प्रतिनिधिमंडलों में हिस्सा लिया है। वह बीकानेर, इलाहाबाद, कटक और अगरतला में चार क्षेत्रीय कैंसर केंद्रों के शासकीय निकाय और भोपाल में नए एम्स के लिए चयन समिति के अध्यक्ष तथा झज्जर में एनसीआई की रूपरेखा बनाने के लिए विशेषज्ञ समिति के अध्यक्ष के रूप में कार्य करते हैं। डॉ रथ कई ऑन्कोलॉजी पत्रिकाओं और पाठ्यपुस्तकों के संपादकीय बोर्ड में भी कार्य करने के साथ-साथ विभिन्न पुस्तकों के 37 अध्यायों और सैकड़ों जर्नल लेखों के लेखक भी रहे हैं।

\r\n