Skip to main content

आधारभूत संरचना (नियोजित सुविधाएँ)

ifrastructure

\r\n\r\n

भौतिक सुविधाएँ:

\r\n\r\n

एनसीआई की स्थापना से शल्य, विकिरण, चिकित्सीय, सामुदायिक कैंसर विज्ञान, और प्रशामक उपचार इत्यादि में समग्र रूप से कैंसर की देखभाल की सुविधा मिलेगी। संस्थान में अनुसंधान एवं विकास, प्रशिक्षण और क्षमता निर्माण की सुविधाएँ होंगी। वहाँ महामारी विज्ञान, जैव सांख्यिकी, कोशिका जैविकी, अणुजैविकी, आनुवंशिक विज्ञान, रोगजनन, कैंसर जाँच इत्यादि सहित अनेक क्षेत्रों में शोधकर्ता होंगे। संस्थान में कैंसर विज्ञान नर्सिंग पर भी पाठ्यक्रम होगा। सभी प्रस्तावित सुविधाएँ एवं क्षमताएँ अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुकूल होंगी।

\r\n\r\n

710 बिस्तरों वाला चिकित्सालय:

\r\n\r\n

bed

\r\n\r\n

चिकित्सालय एक ही स्थान पर समग्र रूप से कैंसर की देखभाल सुविधाओं के साथ अत्याधुनिक रेफरल केंद्र होगा। इस चिकित्सालय में शल्य कैंसर विज्ञान, विकिरण कैंसर विज्ञान, औषधीय कैंसर विज्ञान, विकिरण विज्ञान, ट्यूमर पैथोबायोलॉजी, प्रयोगशाला की दवाएँ, एनेस्थिसियोलॉजी और हास्पिस, निवारक कैंसर विज्ञान, चिकित्सा भौतिकी, चिकित्सालय प्रशासन, साइको-ऑन्कोलॉजी, प्रशामक उपचार, ब्लड बैंक और आपातकालीन विभाग होंगे। चूँकि हमारे देश में अधिकांश कैंसर अंतिम चरणों में (चरण तृतीय एवं चतुर्थ) में सामने आते हैं, निवारक/सामुदायिक कैंसर विज्ञान एवं प्रशामक उपचार को बढ़ाने पर जोर दिया जाएगा।

\r\n\r\n

शल्य कैंसर विज्ञान, विकिरण कैंसर विज्ञान, औषधीय कैंसर विज्ञान, एनेस्थिसियोलॉजी और प्रशामक उपचार से युक्त 200 बिस्तरों वाला समर्पित अनुसंधान खंड

\r\n\r\n

चिकित्सालय में 50 बिस्तरों वाला आपातकालीन निरीक्षण कक्ष प्रदान किया जाएगा।

\r\n\r\n\r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n \r\n
विभाग द्वारा बिस्तरों का वितरण
शल्य कैंसर विज्ञान200
विकिरण कैंसर विज्ञान120
औषधीय कैंसर विज्ञान200
असंवेदिता और प्रशामक उपचार60
नाभिकीय चिकित्सा200
आई.सी.यू. बिस्तर50
आपातकालीन बिस्तर710
शिशु सदन बिस्तर30
\r\n\r\n

 

\r\n\r\n

उपकरणों की आवश्यक्ता: वहाँ सभी आयु वर्ग के सभी प्रकार के कैंसर रोगियों को मनोरंजन/आध्यात्मिक गतिविधि के लिए पर्याप्त अवसर होगा। प्रशासनिक खंड, अनुसंधान खंड, शैक्षणिक खंड, ओपीडी और अन्य सेवा खंडों के निर्माण का प्रावधान किया जाएगा। वहाँ सभी श्रेणियों के कर्मचारियों के लिए आवासीय व्यवस्था होगी। यह कर्मचारियों को सड़क और यातायात अवरोध की अपेक्षा संस्थान के परिसर में अधिक समय गुज़ारने में मदद करेगा। वहाँ बेसमेंट पार्किंग और पैदल चलने वालों के लिए एक चौक की भी सुविधा होगी।

\r\n\r\n

 

\r\n\r\n

रेफरल एवं अनुसंधान के शीर्ष केंद्र के रूप में संस्थान के विशेष स्थान को ध्यान में रखते हुए, अनुसंधान एवं चिकित्सीय विभागों के लिए परिष्कृत, अत्याधुनिक उपकरण खरीदे जाएंगे। एम्स द्वारा इस उद्देश्य के लिए गठित एवं डॉ. बी. आर. ए. मुख्य, आई.आर.सी.एच एम्स द्वारा प्रमाणित विशेषज्ञ समिति द्वारा उपकरणों की आवश्यकताओं का मूल्यांकन एवं समीक्षा की गई है।

\r\n\r\n

देखें गैलरीनियोजित भवनों के अधिक कलात्मक प्रस्तुतिकरण के लिए

\r\n